भारतीय ऑटोमोबाइल बाजार में इन कार ब्रांड्स का है दबदबा, मार्केट में आते ही छा गई ये कोरियन कार कंपनी

Maruti Suzuki देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी है। यही कारण है कि अमूमन हर ट्रैफिक सिग्नल पर हमें 10 में 4-6 कारें मारुति की नजर आती हैं। देश की सबसे बड़ी कार निर्माता भारतीय ऑटो बाजार में 41.6 प्रतिशत की हिस्सेदारी रखती है

बीते त्योहारी सीजन में भारतीय कार बाजार के अंदर जमकर खरीदारी हुई है। इस दौरान लोगों के पास फेस्टिव डिस्काउंट के साथ अपनी मनपसंद कार खरीदने का सुनहरा मौका था। हर साल की तरह, भारतीय ऑटोमोबाइल उद्योग ने भी इस सीजन का भरपूर फायदा उठाते हुए कुल 3,90,853 यूनिट सेल की हैं।

Maruti Suzuki

Maruti Suzuki देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी है। यही कारण है कि अमूमन हर ट्रैफिक सिग्नल पर हमें 10 में 4-6 कारें मारुति की नजर आती हैं। देश की सबसे बड़ी कार निर्माता भारतीय ऑटो बाजार में 41.6 प्रतिशत की हिस्सेदारी रखती है।

Hyundai

भारत के टॉप-5 कार ब्रांड्स की इस सूची में दूसरे स्थान पर Hyundai है। कोरियाई निर्माता ने पिछले दो दशकों में Santro, i10, i20, Verna और Creta जैसी कारों के साथ भारतीय बाजार में मजबूत छाप छोड़ी है। आज, हुंडई के पास भारत में 14.6% की बाजार हिस्सेदारी है

Tata Motor

टाटा ने पिछले पांच सालों में खुद को पूरी तरह से नया रूप दिया है। ट्रकों और बसों का निर्माण करने के लिए मशहूर इस ब्रांड ने देश के टॉप-5 कारमेकर की लिस्ट में अपनी जगह बनाई है। मौजूदा समय में भारत में इसकी बाजार हिस्सेदारी 13.9 प्रतिशत है।

Mahindra

टाटा की तरह, महिंद्रा ने भी गुणवत्ता देशी कार कंपनी का गौरव हासिल किया है। मौजूदा समय में Mahindra की ओर से प्रीमियम SUVs पेश की जाती हैं और भारत में कंपनी की बाजार हिस्सेदारी लगभग 8.9% है।

Kia

हुंडई की सहयोगी ब्रांड किआ 2019 में सेल्टोस के साथ भारत आई और इसने बेहद कम समय में भारतीय बाजार में अंदर अपनी पहचान बनाई है। किआ भारतीय कार बाजार में 6.7% हिस्सेदारी हासिल करने में कामयाब रही है, जो इतने युवा ब्रांड के लिए काफी अभूतपूर्व है