लक्षद्वीप में नहीं मिलते सांप और कुत्ते, लेकिन मिल जाती है ये दुर्लभ गाय

हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लक्षद्वीप गए और वहां की तमाम खूबसूरत तस्वीरें साझा की. भारतीय पर्यटकों से लक्षद्वीप जाने का आह्वान किया

भारत के सबसे छोटे केंद्र शासित प्रदेश लक्षद्वीप की कई बातें अनूठी हैं. खानपान से लेकर रहन-सहन और संस्कृति के मामले में कई मायनों में भारत के दूसरे राज्यों से यह अलग है

36 छोटे-छोटे द्वीप से मिलकर बने लक्षद्वीप की कुल आबादी करीब 64000 के आसपास है. 96 फीसदी आबादी मुसलमान है. लक्षद्वीप कुल 32 वर्ग किलोमीटर में फैला है

लक्षद्वीप में भले ही 32 आइलैंड हैं, लेकिन सिर्फ दस आईलैंड पर ही लोग रहते हैं. जिसमें- कवाराट्टी, अगाट्टी, अमिनी, कदमत, किलातन, चेतलाट, बिट्रा, आनदोह, कल्पनी और मिनिकॉय शामिल हैं

लक्षद्वीप में मुख्य तौर पर मलयालम बोली जाती है. कुछ लोग मह्हे भी बोलते हैं, जिसकी लिपि धिवेही है. यह वही भाषा है जो मालदीव में भी बोली जाती है

लक्षद्वीप के लोगों की आय का मुख्य जरिया मुख्यत: समुद्री संसाधनों पर टिका है. टूरिज्म से लेकर मछली पकड़ने से लेकर नारियल की खेती जैसे काम करते हैं.

लक्षद्वीप केंद्र शासित प्रदेश है और प्रफुल्ल पटेल यहां के प्रशासक हैं. यह सामरिक नजरिए से भारत के लिए बहुत महत्वपूर्ण है, इसलिए नौसेना का बेस भी यहां है

घूमना है लक्षद्वीप तो इन जगहों को करें एक्सप्लोर