क्या दूसरे चार्जर से फोन चार्ज करने पर जल्दी खराब हो जाती है बैटरी? सच्चाई जानकर पकड़ लेंगे सिर

फोन चार्ज हो तो लाइफ आसान हो जाती है. फोन थोड़ी देर के लिए भी बंद हो जाए तो लगता है कि कुछ खालीपन सा है. फोन पूरा समय एक्टिव रहे इसलिए हम बार-बार इसे चार्जिंग पर लगा देते हैं.

कभी-कभी तो अगर अपना चार्जर साथ न हो तो दूसरे से चार्जर लेकर फोन को चार्ज कर लेते हैं. लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि अलग-अलग चार्जर से फोन को चार्ज करने पर इसकी बैटरी पर क्या असर होता है.

अगर आप भी अपने फोन को किसी दूसरे चार्जर से चार्ज करते हैं, तो अब आपको सावधान रहने की जरूरत है. ऐसा इसलिए क्योंकि किसी दूसरे चार्जर से फोन चार्ज करने से आपके फोन की बैटरी को काफी नुकसान हो सकता है.

माय मोबाइल, एसेसरीज़.कॉम स्टोर के मालिक भारत तिवारी कहते हैं कि फोन को हमेशा उसके साथ आने वाले चार्जर से ही चार्ज करना सही होता है. अगर कोई शख्स दूसरे के चार्जर से फोन को चार्ज करता है तो हीटिंग की दिक्कत आने लगती है.

उदाहरण के तौर पर अगर आपका वीवो फोन 65W के चार्जर को सपोर्ट करता है और आप उसे रेडमी के किसी फोन के चार्जर से चार्ज करते हैं जो कि 45W का है तो फोन तो चार्ज होने तो लगेगा लेकिन समय के साथ इसकी बैटरी बैकअप में दिक्कत आने लगेगी.

बार-बार फोन को दूसरे के चार्ज करने पर फोन के बैटरी का बैकअप कम होने लगता है. धीरे-धीरे ऐसा होता है कि फोन की बैटरी कम देर चलने लगती है. दूसरे चार्जर से फोन को चार्ज न करने का कारण ये है भी है कि इसकी वजह से बैटरी फूलने की समस्या आने लगती है.

भारत तिवारी का ये भी कहना है कि हम जो अक्सर फोन में आग लगने की खबर सुनते हैं वह भी दूसरे के चार्जर को बार-बार इस्तेमाल करने की वजह से होती है