ना भारत और ना नेपाल, दुनिया के इस देश के नेशनल फ्लैग में हिंदू मंदिर का बड़ा चित्र

कंबोडिया का झंडा दुनिया का अकेला नेशनल फ्लैग है, जिस पर एक मंदिर का चित्र उभरा हुआ है

ये झंडा पिछले कई सालों में कई बार बदला लेकिन हर बार इसके झंडे में मंदिर का चित्र जरूर रहा

कंबोडिया का ये राष्ट्रीय ध्वज 1989 में स्वीकार किया और 1993 में सरकार की ओर से इसे पूरी मंजूरी मिल गई

1875 से ही कंबोडिया के झंडे में अंगकोर वाट के मंदिर को रखा गया था. जिसमें ऊपर और नीचे नीली पट्टियां थीं और मध्य में लाल पट्टी और बीच में मंदिर का रेखाचित्र

कंबोडिया के 1948 में आजादी के बाद इसे नेशनल फ्लैग बनाया गया. इसे 09 अक्टूबर 1970 तक चलाया गया.

जब तक कि देश का नाम बदलकर खमेर गणराज्य नहीं हो गया. तब लोन नोल ने इसके लिए नया झंडा पेश किया

खमेर गणराज्य खमेर रूज के 1975 तक के शासन तक कायम रहा. इसके बाद फिर कंबोडिया का नाम डेमोक्रेटिक कंपूचिया हो गया, जो 1975 से 1979 तक अस्तित्व में था.