लोनावला में घूमने की जगह

आज हम बात करने जा रहे हैं। लोनावला के बारे में। लोनावला महाराष्ट्र राज्य में मुंबई और पुणे के बीच स्थित एक प्रसिद्ध हिल स्टेशन है। लोनावला अपनी मिठाई चक्की के लिए पूरे भारत में प्रसिद्ध है। इस जगह को गुफाओं का शहर भी कहा जाता है

लोनावला में ज्यादातर लोग बरसात या सर्दी के मौसम में यहां आते हैं। क्योंकि बरसात और सर्दी के मौसम में यह जगह हरियाली और झरनों से भरी रहती है। जिसके कारण यह जगह बेहद खूबसूरत लगती है।

अगर आप हवाई जहाज के माध्यम से लोनावला आना चाहते हैं। तो आपको सबसे पहले मुंबई एयरपोर्ट आना होगा। क्योंकि लोनावला एक हिल स्टेशन है तो इसके कारण यहां पर कोई एयरपोर्ट नहीं बना हुआ है। इसीलिए आपको मुंबई एयरपोर्ट पर आना होगा । वहां से लगभग 84 किलोमीटर दूरी पर लोनावला स्थित है

भुशी डैम

बुशी डैम लोनावला का एक प्रसिद्ध पिकनिक स्पॉट है। पर्यटक यहीं सबसे ज्यादा आना पसंद करते हैं। क्योंकि इस बांध के बगल में एक सीढ़ी है जिस पर बांध का पानी गिरता है जो पर्यटकों को आकर्षित करता है इस जगह पर जाने के बाद आप पर्यटकों को इस सीढ़ी पर बैठकर इस जगह का आनंद लेते देखेंगे। जो बहुत आनंददायक है।

पवन लेक

पावना झील अगर हमारे पर्यटक अपने मौसम को और भी खूबसूरत और रोमांटिक बनाना चाहते हैं। तो आपको लोनावला की पावना झील जरूर देखनी चाहिए। यह झील लाहोगढ़ किले से 15 किमी दूर है। इस झील के चारों ओर सुन्दर वातावरण है। यह जगह कैंपिंग के लिए काफी मशहूर है। कैम्पिंग प्रेमी यहां अपनी कैम्पिंग और रात्रि विश्राम कर सकते हैं।

टाइगर प्वाइंट

टाइगर प्वाइंट यह स्थान बुशी बांध से 4.5 किमी दूर है। जो अंबिघाटी के मध्य में स्थित है। यह जगह लोनावाला की सबसे लोकप्रिय जगहों में से एक है। इस जगह से आप पहाड़ों और गिरते झरनों को देखने का आनंद ले सकते हैं। जो देखने में बेहद खूबसूरत लगता है। ज्यादातर पर्यटक यहां सूर्यास्त का आनंद लेने के लिए आते हैं

लोहागढ़ किला

लाहोगढ़ किला। यह किला लोनावला से 12 किमी दूर है। यहां ज्यादातर पर्यटक ट्रैकिंग के लिए आते हैं।इसलिए ये जगह ट्रैकिंग के लिए काफी मशहूर है यह किला 18वीं सदी का है जो बेहद खूबसूरत और ऐतिहासिक है.इस किले से आप पहाड़ों झरनों और घाटियों की सुंदरता का आनंद ले सकते हैं।

मुंबई से दिल्ली के लिए चलेगी पहली स्लीपर वंदे भारत