मदुरई के प्रमुख पर्यटन स्थल

मदुरई, तमिलनाडु की एक ऐतिहासिक और सांस्कृतिक रूप से समृद्ध शहर है। यह शहर अपने भव्य मंदिरों, प्राचीन स्मारकों और जीवंत संस्कृति के लिए जाना जाता है। मदुरै में घूमने के लिए कई जगहें हैं |

मीनाक्षी अम्मन मंदिर

मीनाक्षी अम्मन मंदिर भारत के सबसे बड़े और सबसे प्रसिद्ध मंदिरों में से एक है। यह मंदिर तमिलनाडु के मदुरई शहर में स्थित है। यह मंदिर देवी मीनाक्षी और भगवान सुंदरेश्वर को समर्पित है। मंदिर की वास्तुकला अद्भुत है और इसमें कई सुंदर मूर्तियां और शिल्प हैं। मंदिर की स्थापना 6वीं शताब्दी में हुई थी, लेकिन वर्तमान संरचना 17वीं शताब्दी में बनाई गई थी।

अरुलमिगु सुब्रमण्य स्वामी मंदिर

अरुलमिगु सुब्रमण्य स्वामी मंदिर जिसे तिरुप्परनकुंड्रम मुरुगन मंदिर के नाम से भी जाना जाता है, भगवान मुरुगन को समर्पित एक हिंदू मंदिर है। यह मंदिर तमिलनाडु के मदुरई शहर से लगभग 8 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। मंदिर को मुरुगन के छह निवासों में से एक माना जाता

 कोउडल अज़गर मंदिर

कोउडल अज़गर मंदिर भगवान शिव को समर्पित एक हिंदू मंदिर है। यह मंदिर तमिलनाडु के मदुरई शहर में स्थित है। मंदिर को भगवान शिव के छह निवासों में से एक माना जाता है।मंदिर की स्थापना 12वीं शताब्दी में हुई थी। मंदिर की वास्तुकला अद्भुत है और इसमें कई सुंदर मूर्तियां और शिल्प हैं

तिरुमलाई नायक पैलेस

तिरुमलाई नायक पैलेस तमिलनाडु के मदुरै शहर में स्थित एक ऐतिहासिक और सांस्कृतिक रूप से महत्वपूर्ण महल है। यह 17वीं शताब्दी में नायक राजवंश द्वारा बनाया गया था। महल की वास्तुकला इंडो-सारसेनिक शैली में है और इसमें कई सुंदर मूर्तियां और शिल्प हैं

गांधी मेमोरियल संग्रहालय

गांधी मेमोरियल संग्रहालय  भारत के महात्मा गांधी को समर्पित एक संग्रहालय है। यह तमिलनाडु के मदुरै शहर में स्थित है। संग्रहालय में गांधीजी के जीवन और कार्यों से संबंधित कई वस्तुएं और दस्तावेज हैं।संग्रहालय की स्थापना 1959 में हुई थी।

अझगर कोविल

अझगर कोविल भगवान शिव को समर्पित एक हिंदू मंदिर है। यह तमिलनाडु के मदुरई शहर में स्थित है। मंदिर को भगवान शिव के छह निवासों में से एक माना जाता है।मंदिर की स्थापना 12वीं शताब्दी में हुई थी। मंदिर की वास्तुकला अद्भुत है और इसमें कई सुंदर मूर्तियां और शिल्प हैं