कनाडा के इस कॉलेज में पढ़ते हैं 80% भारतीय, जानिए क्यों है पहली पसंद

भारत से हर साल लाखों छात्रा कनाडा पढ़ने जाते हैं. विदेशी छात्रों से उम्मीद की जाती है कि वे राजधानी या उसके आसपास के कॉलेजों में एडमिशन लेते हैं

लेकिन भारतीय छात्रों को एक ऐसा कॉलेज पसंद आ रहा है, जो टोरंटो शहर से आठ घंटे की दूरी पर है. इसके बारे में कनाडा के लोग भी कम जानते हैं.

भारत से हर साल लाखों स्टूडेंट्स कनाडा पढ़ने जाते हैं. इसमें बड़ी संख्या में ऐसे होते हैं जिनकी हसरत वहीं नौकरी करके सेटल हो जाने की होती है

इंडियन स्टूडेंट्स के बीच कनाडा को पंसद करने की कई वजहें हैं. जैसे कि और देशों के मुकाबले सस्ता होना, कागजी औपचारिकताएं आसानी से पूरा होना आदि.

लेकिन सबसे बड़ी वजह है यहां से पढ़ाई करने वाले स्टूडेंट्स को यहीं आसानी से प्लेसमेंट मिल जाना. इसी क्रम में कनाडा के सुदूर इलाके में एक ऐसा कॉलेज आजकल चर्चा में है जिसमें पढ़ने वाले स्टूडेंट्स में से 80 फीसदी तक इंडियन हैं.

कनाडा का यह कॉलेज ओंटारियो के एक सुदूर शहर टिमिन्स में है. इसका नाम नॉदर्न कॉलेज है. न्यूयार्क टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार इस कॉलेज के बारे में कनाडा के लोग भी कम ही जानते हैं

रिपोर्ट के अनुसार नॉदर्न कॉलेज में साल 2014 में 40 विदेशी छात्र पढ़ते हैं. कनाडा के अन्य दूर-दराज के कॉलेजों की तरह नॉदर्न कॉलेज ने भी साल 2015 में एक प्राइवेट कॉलेज के साथ साझेदारी करके टोरंटो सबअर्ब में एक कैंपस खोला

कनाडा के बारे में ये बाते नहीं जानते होंगे आप